गीत अगीत Chapter-13 प्रश्न और उत्तर Sparsh Hindi NCERT Solutions for Class 9

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Sparsh Geet Ageet Questions and Answers

पाठ : 13 गीत – अगीत

Geet Ageet Class 9 – कवि परिचय

इस कविता के कवि है रामधारी सिंह दिनकर। रामधारी सिंह दिनकर का जन्म बिहार के मुंगेर जिले के सिमरिया गाँव में 30 सितंबर 1908 को हुआ। वे सन् 1952 में राज्यसभा के सदस्य मनोनीत किए गए। भारत सरकार ने इन्हें ‘पद्मभूषण अलंकरण से भी अलंकृत किया। दिनकर जी को ‘संस्कृति के चार अध्याय ‘ पुस्तक पर साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला। अपनी काव्य कृति ‘उर्वशी’ के लिए इन्हें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

दिनकर की प्रमुख कृतियाँ हैं : हुंकार, कुरुक्षेत्र, रश्मिरथी, परशुराम की प्रतीक्षा, उर्वशी और संस्कृति के चार अध्याय।

दिनकर ओज के कवि माने जाते हैं। इनकी भाषा अत्यंत प्रवाहपूर्ण, ओजस्वी और दिनकर की सबसे बड़ी विशेषता है अपने देश और युग के सत्य के प्रति सजगता। विचार और संवेदना का सुंदर समन्वय दिखाई देता है। इनकी कुछ कृतियों में प्रेम और भी चित्रण है।

प्रस्तुत कविता ‘गीत-अगीत’ में भी प्रकृति के सौंदर्य के अतिरिक्त जीव-जंतुओं के ममत्व मानवीय राग और प्रेमभाव का भी सजीव चित्रण है। कवि को नदी के बहाव में गीत का सृजन होता जान पड़ता है, तो शुक-शुकी के कार्यकलापों में भी गीत सुनाई देता है ओर आल्हा गाता ग्वालबाल तो गीत-गान में निमग्न दिखाई देता ही है। कवि का मानना है कि नदी और शुक गीत-सृजन या गीत गाना भले ही न हो रहा है। कवि की दुविधा महज़ इतनी है कि उनका वह अगीत (जो गाया नहीं जा रहा, मह़ इसलिए अगीत है) सुंदर है या ग्वाला द्वारा संस्कार गाया जा रहा गीत?

1. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए:

(क) नदी का किनारों से कुछ कहते हुए बह जाने पर गुलाब क्या सोच रहा है? इससे संबंधित पंक्तियों को लिखिए।

उत्तर: जब नदी किनारों से बाते करते हुए बह रही है तो किनारे पर गुलाब सोचने लगता है, कि यदि भगवान ने उसे बोलने की शक्ति दी होती तो वह भी अपने सपनों के गीत सबको सुनता।

“देते स्वर यदि मुझे विधाता,

अपने पतझर के सपनों का

मैं भी जग को गीत सुनाता।”

(ख) जब शुक गाता है, तो शुकी के हृदय पर क्या प्रभाव पड़ता है ?

उत्तर:  जब शुक्र का आता है तो शुक्री का हृदय प्रशन्नता से फूल जाता है  तथा शुकी उसके प्रेम में मग्न हो जाती हैं।

(ग) प्रेमी जब गीत गाता है, तब प्रेमिका की क्या इच्छा होती है?

उत्तर:  प्रेमी जब गीत गाता है,  तब प्रेमिका की इच्छा यह होती है कि वह भी गीत की कड़ी का हिस्सा बन जाए।

(घ) प्रथम छंद में वर्णित प्रकृति-चित्रण को लिखिए।

उत्तर: गीता-अगीत  कविता के  प्रथम छंद में कवि ने प्रकृति के मनमोहक रूप का वर्णन किया है। नदी बह रही है तथा वह विरह के गीत गाते हुए बड़ी तेजी से आगे बढ़ रही है। ऐसे में लगता है कि वह नदी किनारों से कुछ कह रही है । नदी के किनारे के पास एक गुलाब छुप-छुपकर यह सब देख रहा है और यह सोच रहा है, कि यदि भगवान ने उसे भी बोलने की शक्ति दी होती तो वह भी पूरी दुनिया को अपने सपनों के गीत सुनाता।

(ङ) प्रकृति के साथ पशु-पक्षियों के संबंध की व्याख्या कीजिए।

उत्तर: प्रकृति के साथ पशु-पक्षियों का बहुत गहरा संबंध है, जिसकी व्याख्या करना बहुत ही मुश्किल है। पशु-पक्षी प्रकृति के बिना जीवित नहीं रह सकते तथा प्रकृति के बिना मनुष्य भी जीवित नहीं रह सकते। प्रकृति ही उन्हें आवास प्रदान करती है और भोजन प्रदान करती है और प्रकृति सभी जीव-जंतु और मनुष्य को ऑक्सीजन प्रदान करती है।

(च) मनुष्य को प्रकृति किस रूप में आंदोलित करती है? अपने शब्दों में लिखिए।

उत्तर: मनुष्य को प्रकृति अलग-अलग रूपों में आंदोलित करती है। कई बार जब मनुष्य बहती नदी को देखता है तो उसकी आवाज को सुनकर खो जाता है। उसे ऐसा लगता है, कि मानो नदी गीत गा रही हो । जब मनुष्य हल्की बारिश देखता है तो उसमें खो जाता है, परंतु जब तेज तूफान आता है तो मनुष्य उससे बचकर किसी सुरक्षित स्थान पर पहुंच जाता है, ताकि वह तेज तूफान से बच सके।

(छ) सभी कुछ गीत है, अगीत कुछ नहीं होता। कुछ अगीत भी होता है क्या? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर: सभी कुछ गीत है अगीत कुछ नहीं होता।इस पंक्ति का यह आशा है कि, जब हम कुछ भावना करते हैं  तथा उसको होठों  के द्वारा बाहर निकालते हैं, तो उसे गीत कहते हैं। जब कोई भावना अंदर ही रह जाती है तो उसे अगीत कहते हैं।  कभी-कभी अगीत भी गीत बन जाता है।

(ज) ‘गीत-अगीत’ के केंद्रीय भाव को लिखिए।

उत्तर: ‘गीत अगीत’ के केंद्रीय भाव कुछ इस प्रकार हैं :-

गीत और अगीत कविता में छुपी हुई भावना और भावना के बारे में बात की गई है तथा बीच में तुलना की गई है। तुलना करने के लिए इसमें कवि ने प्रकृति का सहारा लिया है। यह तुलना प्रकृति में छुपे अनेक सुख सौंदर्य के साथ कवि ने की हैं।  इस कविता ने कवि ने नदी के गाने की तुलना गुलाब की चुप्पी से की है तथा शुक्र के गाने की तुलना सुकरी के मोन से की है। इस तरह से इस कविता में गीत और अगीत के माध्यम से प्रकृति का बड़ा ही मनोहारी वर्णन है।

2. संदर्भ-सहित व्याख्या कीजिए:

(क) अपने पतझर के सपनों का
मैं भी जग को गीत सुनाता

उत्तर: अपने पतझर के सपनों का मैं भी जग को गीत सुनाता :-  इस संदर्भ का यह आशा है कि जब नदी गीत गाते हुए बह रही होती है तथा किनारों से बात कर रही होती है। तब किनारे का एक गुलाब उनकी बातें चुपचाप सुन रहा होता है, और यह सोच रहा होता है काश भगवान ने मेरे को भी बोलने की क्षमता दी होती और मैं भी दुनिया को अपने सपनों के बारे में गा-गाकर सुनाता।

(ख) गाता शुक जब किरण बसंती
छूती अंग पर्ण से छनकर

उत्तर: गाता शुक जब किरण बसंती छूती अंग पर्ण से छनकर :-  इस संदर्भ का यह आशा है, कि जब पत्तियों से छनकर आने वाली किरणें तोते के पंखों का स्पर्श करती हैं, तो तोता गाने लगता है।

(ग) हुई न क्यों मैं कड़ी गीत की
बिधना यों मन में गुनती है

उत्तर: हुई न क्यों मैं कड़ी गीत की बिधना यों मन में गुनती है :- इस संदर्भ का आशय है कि  जब प्रेमी प्रेमिका के लिए कोई प्रेम भरा गीत गाता है, तो प्रेमिका या सोचती है कि काश मैं भी इस गीत का हिस्सा बन जाऊं।

More Articles

The Sound of Music Class 9 Questions and Answers

A Truly Beautiful Mind Class 9 Questions and Answers

If I were you class 9 questions and answers

3 thoughts on “गीत अगीत Chapter-13 प्रश्न और उत्तर Sparsh Hindi NCERT Solutions for Class 9”

Leave a Reply

%d bloggers like this: