NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 12 कैदी और कोकिला प्रश्न और उत्तर

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter-12 Kaidi Aur kokila Questions and Answers

प्रश्न1. कोयल की कूक सुनकर कवि की क्या प्रतिक्रिया?

उत्तर: कोयल की कूक सुनकर कवि में जिज्ञासा होती है कि कोयल असमय में कुकने लगी है कवि उसके कुकने का कारण जानना चाहता है उसे लगता है कि यह कोयल बावली हो गई है कवि को ऐसा भी लगता है कि यह हमारी यातनाओं में भागीदारी करना चाहती है कवि अपने मन वेदना उसके समक्ष रख देना चाहता है कवि को कोयल चेतना जगाती जान पड़ती है इस तरह कवि कवि तरह-तरह के अनुमान लगाता है।

प्रश्न2. कवि ने कोकिल के बोलने के किन कारणों की संभावना की है?

उत्तर: कवि ने कोकिल के बोलने के निम्नलिखित कारणों की संभावना बताई हैं:

1. कोकिल किसी संदेश को लेकर आई है।

2. कोकिल ने दावानल की आग देख ली है अतः वह चीख रही है।

3. कोकिल कवि की यात्राओं के प्रति सहानुभूति प्रकट करने आई है।

4. वह कवि के आंसू पोंछने आई है।

5. वह अंधकार का बोध करा रही है।

6. वह रणभोरी बजा रही है।

प्रश्न3. किस शासन की तुलना तम के प्रभाव से की गई है और क्यों?

उत्तर: ब्रिटिश शासन की तुलना तम के प्रभाव से की गई है क्योंकि ब्रिटिश शासकों का शासन अंधकार के समान काला था इस शासन ने क्रांतिकारियों पर बहुत अत्याचार भी किए थे उन्हें जेल की काली कोठियों में कैद करके रखा जाता था कारागार में उन्हें तरह-तरह की शारीरिक और मानसिक यातनाएं दी गई अतः अंग्रेजी शासन को तम के समान काला बताया गया है।

प्रश्न4. कविता के आधार पर पराधीन भारत की जेलों में दी जाने वाली यातनाओं का वर्णन कीजिए?

उत्तर: पराधीन भारत की जेलों में भारी यातनाएं दी जाती थी स्वतंत्रता सेनानियों को जेल में चोर और बट मारो के साथ ही रखा जाता था उनके लिए पृथक से रहने की कोई व्यवस्था नहीं थी उन्हें अंधेरी छोटी कोठरी में रखा जाता था उन्हें भरपेट भोजन तक नहीं दिया जाता था कैदियों को हथकड़ी लगाकर खा जाता था जैसे पत्थर तोड़ना पेट पर जुआ बांधकर मुक्त खींचना आदि कैदियों के साथ मारपीट की जाती थी तथा गालियां दी जाती थी।

प्रश्न5. भाव स्पष्ट कीजिए:

(क) मृदुल वैभव की रखवाली-सी, कोकिल बोलो तो!

(ख) हूँ मोट खींचता लगा पेट पर जूआ, खाली करता हूँ ब्रिटिश अकड़ का कूँआ।

उत्तर: (क) कोयल की आवाज मीठी है और वह कवि को अपना मीठा श्वर सुना कर जेल में बंद कवि के कष्टों को कम करना चाहती है। लेकिन कवि यह नहीं समझ पा रहा है की वो उससे कहना क्या चाहती है।

(ख) कवि कहता है की वह जेल की असहनीय पीड़ा को सहकर भी जहा उसे पशुओं की भांति काम करना पड़ता है। हार नहीं मान रहा है और उसके बुलंद हौसले देखकर ब्रिटिश सरकार की अकड़ ढीली पड़ रही है। क्योंकि उनको बोध हो गया है की वे चाहे कितने भी अत्याचार कर ले, आजादी के बुलंद हौसले को दबा नही सकते।

प्रश्न6. अद्धरात्रि में कोयल की चीख से कवि को क्या अंदेशा है?

उत्तर: अद्धरात्रि में कोयल की चीख सुनकर कवि को यह अंदेशा होता है कि शायद वह पागल हो गई है या उसे कोई पीड़ा है जिसे वह दूसरों को बताना चाहती है। या हो सकता है उसने भारतीयों के आक्रोश एवं असंतोष की ज्वाला देख ली होगी। यह भी संभव है की क्रांतिकारियों के दुःख से द्रवित होकर वह चीख पड़ी हो।

प्रश्न7. कवि को कोयल से ईर्ष्या क्यों हो रही है?

उत्तर: कवि को कोयल से ईर्ष्या इसलिए हो रही है क्योंकि कोयल पेड़ की हरी-भरी डाली पर बैठी है और वह जेल की काली कोठरी में कैद है कोयल स्वतंत्र है और कभी परतंत्र है कोई स्वतंत्रता से उड़ सकती है जबकि कवि का संसार एक 10 फुट की छोटी सी कोठरी है कोयल के गीतों की सभी प्रशंसा करते हैं जबकि कवि के लिए आंसू बहाना भी गुनाह है अतः दोनों की परिस्थितियों में भारी अंतर है इसलिए कवि को कोयल से ईर्ष्या हो रही है।

प्रश्न8. कवि के स्मृति पटल पर कोयल के गीतों की कौन सी मधुर स्मृतियां अंकित हैं जिन्हें वह अब नष्ट करने पर तुली है?

उत्तर: कवि के स्मृति पटल पर कोयल के गीतों की निम्नलिखित मधुर स्मृतियां अंकित हैं:

1.जब ओंस से सनी घास पर सूरज की किरणें पड़ती है तब कोयल गीत सुनाती है।

2.रात के समय कोयल गजब ढाती है।

3.कोयल के गीत क्रांति की भावना उत्पन्न करते हैं।
पर अब वह इन मधुर स्मृतियों को नष्ट करने पर तुली है अब उसका व्यवहार बदला हुआ प्रतीत होता है।

प्रश्न9. हथकड़ियों को गहना क्यों कहा गया है?

उत्तर: कवि ने हथकड़ियां गलत काम कर नहीं पहनी है उन्हें स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के कारण अंग्रेज सरकार ने हथकड़ियां पहनाई है जो उनके लिए गौरव की बात है इसलिए हथकड़ियों को गहना कहा गया है।

प्रश्न10. ‘काली तू …. ऐ आली!’ – इन पंक्तियों में ‘काली’ शब्द की आवृत्ति से उत्पन्न चमत्कार का विवेचन कीजिए?

उत्तर: इस कविता की पंक्तियों में कवि ने 9 बार काली शब्द का प्रयोग किया है। शब्द तो एक ही है परंतु भिन्न-भिन्न अर्थों में इसका प्रयोग किया गया है। कहीं पर यह शब्द अंग्रेजी सरकार के काले शासन को संबोधित कर रहा है तो कहीं वातावरण की कालिमा और निराशा को उजागर कर रहा है।

प्रश्न11. काव्य-सौंदर्य स्पष्ट कीजिए:
(क) किस दावानल की ज्वालाएं हैं दीखी?

उत्तर: यहां कवि कोयल की वेदना पूर्ण आवाज पर अपनी आशंका व्यक्त कर रहा है अपनी रचनात्मक शैली से कभी कोयल के कष्ट का अनुमान लगा रहा है। कवि ने विंबात्मक शैली का प्रयोग किया है। भाषा में सहजता तथा सरलता है।

(ख) तेरी गीत कहावें वाह, रोना भी है मुझे गुनाह!
देख विषमता तेरी-मेरी, बजा रही तिस पर रणभेरी!
उत्तर: प्रस्तुत काव्य पंक्तियों में कवि ने अपने तथा कोयल के जीवन की विषमताओं की ओर संकेत किया है कवि ने यहां तुकबंदी का प्रयोग किया है, अपनी तथा कोयल की जीवन की तुलना की है तथा सरल भाषा का प्रयोग किया है।

रचना एवं अभिव्यक्ति

प्रश्न12. कवि जेल के आसपास अन्य पक्षियों का चहकना भी सुनता होगा लेकिन उसने कोकिला की ही बात क्यों की है?

उत्तर: उस समय आधी रात को कोयल की ही मधुर आवाज कवि सुन पा रहें थे। और उन्हें ये आभास हुआ की वह कोयल उन्हें क्रांतिकारियों का संदेश दे रही है। इसलिए कवि ने कोयल की ही बात करी है।

प्रश्न13. आपके विचार से स्वतंत्रता सेनानियों और अपराधियों के साथ एक-सा व्यवहार क्यों किया जाता होगा?

उत्तर: स्वतंत्रता सेनानी भारत की आजादी के लिए अंग्रेजों से लड़ रहे थे। जो की अंग्रेजी शासन को बिल्कुल भी पसंद नहीं था इसलिए वह उन्हें मानसिक रूप से तोड़ने के लिए उन्हें चोर, बटमारा आदियों के साथ रखते और उनके साथ अपराधियों जैसा व्यवहार करते थे।

लेखक परिचय

माखनलाल चतुर्वेदी का जन्म मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के बाबई गांव में सन 1889 में हुआ मात्र 16 वर्ष की अवस्था में वे शिक्षक बने बाद में अध्यापन कार्य छोड़कर उन्होंने प्रभाव पत्रिका का संपादन शुरू किया वह देश भक्त कवि एवं प्रखर पत्रकार थे उन्होंने कर्मवीर और प्रताप का भी संपादन किया। सन 1968 मे उनका देहांत हो गया।
किडनी साहित्य देवता हिम वर्गिनी वे उन लोगों ने धारा उनकी प्रमुख कृतियां हैं उन्हें पद्म भूषण एक साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है माखनलाल चतुर्वेदी की रचनाएं राष्ट्रीय भावना से युक्त हैं उनमें स्वतंत्रता के चेतना के साथ प्रदेश के लिए त्याग और बलिदान की भावना मिलती है इसलिए उन्हें एक भारतीय आत्मा कहा जाता है इस अपना हमसे उन्होंने कविताएं भी लिखी है वह एक कवि कार्यकर्ता भी और स्वाधीनता आंदोलन के दौरान कई बार जेल गए। उन्होंने भक्ति प्रेम और प्रकृति संबंधी कविताएं भी लिखी है।

3 thoughts on “NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 12 कैदी और कोकिला प्रश्न और उत्तर”

Leave a Reply

%d bloggers like this: