NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika किस तरह में आखिरकार हिंदी में आया प्रश्न और उत्तर

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 5 किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया is part of NCERT Solutions for Class 9 Hindi. Here we have given NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 5 किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया.

BoardCBSE
TextbookNCERT
ClassClass 9
SubjectHindi Kritika
ChapterChapter 5
Chapter Nameकिस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया
Number of Questions Solved7
CategoryNCERT Solutions

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika kis tarah aakhirkar main hindi mein aaya Questions and Answers

लेखक परिचय: इस पाठ के लेखक शमशेर बहादुर सिंह है । शमशेर बहादुर सिंह 13 जनवरी 1911- 12 मई 1993 आधुनिक हिंदी कविता की प्रगतिशील त्रयी के एक स्तंभ हैं। हिंदी कविता में अनूठे माँसल एंद्रीए बिंबों के रचयिता शमशेर आजीवन प्रगतिवादी विचारधारा से जुड़े रहे। तार सप्तक से शुरुआत कर चुका भी नहीं हूँ मैं के लिए साहित्य अकादमी सम्मान पाने वाले शमशेर ने कविता के अलावा डायरी लिखी और हिंदी उर्दू शब्दकोश का संपादन भी किया।

किस तरह में आखिरकार हिंदी में आया – प्रश्न – उत्तर

प्रश्न1. वह ऐसी कौन सी बात रही होगी जिसने लेखक को दिल्ली जाने के लिए बाध्य कर दिया?

उत्तर: लेखक जब बेरोजगार थे तो उनके पास कोई काम धंधा नहीं था तब किसी ने उन्हें कटु वचन कहे होंगे इस कारण लेकर दिल्ली चले आए होंगे।

प्रश्न2. लेखक को अंग्रेज़ी में कविता लिखने का अफ़सोस क्यों रहा होगा?

उत्तर: लेखक को अंग्रेजी में कविता लिखने पर अफसोस इसलिए नहीं रहा होगा क्योंकि अंग्रेजी हमारी भारत की जन भाषा नहीं थी इस कारण भारत के लोग उस भाषा को नहीं समझ पाते हैं।

प्रश्न3. अपनी कल्पना से लिखिए कि बच्चन ने लेखक के लिए नोट में क्या लिखा होगा?

उत्तर: उस नोट में शायद उन्होंने लिखा होगा कि तुम इलाहाबाद आ जाओ तथा लेखन में ही तुम्हारा भविष्य निहित है। संघर्ष करने वाले ही जीवन पथ पर अग्रसर होते हैं अत:परिश्रम करो सफलता अवश्य तुम्हारे पास आएगी।

प्रश्न4. लेखक ने बच्चन के व्यक्तित्व के किन-किन रूपों को उभारा है ?

उत्तर: लेखक ने बच्चन के व्यक्तित्व के अनेक रूपों को उभारा है –

1) बच्चन का स्वभाव संघर्षशील तथा फौलादी संकल्पवाला था।

2) बच्चनजी समय के अत्यंत पाबन्द होने के साथ-साथ कला-प्रतिभा के पारखी थे।

3) वे ह्रदय से ही नहीं, कर्म से भी परम सहयोगी थे।

प्रश्न5. बच्चन के अतिरिक्त लेखक को अन्य किन लोगों का तथा किस प्रकार का सहयोग मिला ?

उत्तर: लेखक को बच्चन के अतिरिक्त निम्नलिखित लोगों का सहयोग प्राप्त हुआ –

(1) उकील आर्ट स्कूल में शारदाचरण जी के सहयोग से लेखक को फ्री दाखिला मिला।

(2) पंत के सहयोग से लेखक को हिंदू बोर्डिंग हाउस के कॉमन रूम में एक सीट प्राप्त हो गई थी तथा साथ में इंडियन प्रेस में अनुवाद का काम मिला।

(3) पंत एवं निराला जी के सहयोग व प्रेरणा से कविता लिखना आरंभ किया।

प्रश्न6. लेखक के हिंदी लेखन में कदम रखने का क्रमानुसार वर्णन कीजिये।

उत्तर: उन्होंने लेखक द्वारा लिखे एक ही विषय को पढ़कर उनकी कला को पहचान लिया था। सन् 1933 में लेखक की कुछ रचनाएँ भी छपी जैसे ‘सरस्वती’ और ‘चाँद’ छपी आदि। बच्चन द्वारा भी ‘प्रकार’ की रचना लेखक से करवाई गई।

बच्चन द्वारा रचित ‘निशा-निमंत्रण’ से प्रेरित होकर लेखक ने ‘निशा-निमंत्रण के कवि के प्रति’ कविता लिखवाई थी। निराला जी का ध्यान सरस्वती में छपी कविता पर गया था। उसके पश्चात् उन्होंने कुछ हिंदी निबंध भी लिखे थे। तद्पश्चात् उन्होंने कविताओं का संग्रह व अन्य रचनाएँ भी लिखी।

प्रश्न7. लेखक ने अपने जीवन में जिन कठिनाइयों को झेला है, उनके बारे में लिखिए।

उत्तर: लेखक ने अपने जीवन में अनेक निम्नलिखित कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

(क) जब वह दिल्ली मे आए तो उनके पास सिर्फ 5₹ – ₹7 ही थे। परंतु उनके प्रतिभा के कारण को स्कूल में दाखिला मिल गया। अगर उनको स्कूल में दाखिला नहीं मिलता मुफ्त में तो वह पूरी स्कूल की फीस भी नहीं दे पाते।

(ख) लेखक की परिस्थिति बहुत ही बुरी थी। उनकी पत्नी को टीवी हो गया था, जिस कारण की अकाल मृत्यु हो गई थी। वह बिल्कुल अकेले हो गए थे और वह साइन बोर्ड पेंट कर कर अपना गुजारा चलाते थे।

(ग) उन्होंने ससुराल वालों की मदद से कैसेट से काम सीखा।

More Resources for CBSE Class 9

We hope the given NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 5 किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया will help you. If you have any query regarding NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 5 किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

2 thoughts on “NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika किस तरह में आखिरकार हिंदी में आया प्रश्न और उत्तर”

Leave a Reply

%d bloggers like this: